Corona effect | युगों-युगों तक याद किया जाने वाला यह वक़्त भी बीत जाएगा

Corona-effect

हर सदी की एक कहानी होती है जिसे युगों-युगों तक याद किया जाता है, हर दौर अपनी निशानियां भी छोड़ जाता है जिससे भविष्य की पीढ़ियाँ सबक लेती हैं। हम सब इस Corona effect में समय के जिस पड़ाव पर हैं, वह भी हमेशा के लिए नहीं है।

Corona effect का यह वक्त भी यूं ही बीत जाएगा और बीत जाएंगी Corona effect के इस दौर की सारी उथल-पुथल खुशियां, गम, सुख, दुख, रुदन, उल्लास कुछ भी बाकी नही बचेगा साथ ही खत्म हो जाएंगी इस दौर के नेताओं की पैंतरेबाजी, अभिनेताओं की अदाकारी, अमीरों की हवस और गरीबों की बदहवासी कुछ भी बाकी नही बचेगा।

आज के महल कल के खंडहर बन जाएंगे, आज के लोग कल के पूर्वज बन जाएंगे, आज के शासक कल की कहानियां बन जाएंगे, आज के दलाल कल की गालियाँ बन जाएंगे।

इस Corona effect ने बताया कि अत्यधिक महत्वाकांक्षा अच्छी नहीं

आज दौलत के ढेर पर बैठने की महत्वाकांक्षा पालने वाले लोगों को यह नहीं भूलना चाहिए कि न जाने कितने अडानी, अम्बानी समय के गर्त में समा कर गायब हो चुके हैं। आज सत्ता के नशे में चूर लोगों को यह नहीं भूलना चाहिए कि न जाने कितने नेहरू, हिटलर समय के गर्त में समा कर लापता हो चुके हैं। आज दलाली में लीन लोगों को यह नही भूलना चाहिए कि न जाने कितने मीर जाफर, जयचंद समय के गर्त में समा कर गुम हो चुके हैं।

पल, सेकंड, मिनट, घण्टे, दिन, सप्ताह और महीनों के अंतराल में फैले वर्ष
2020 के अब कुछ आखिरी महीने ही बाकी बचे हैं 2020 में लिखी मेरी ये पंक्तियां
आप शायद 2021 में पढ़ रहे हों, इससे आपको समय की परिवर्तनशीलता का अंदाजा
तो हो ही जायेगा वर्ष से दशक बनते हैं दशक से सदी बनती है।

इतिहास केवल उन्ही लोगों को जिंदा रखता है
जो परिवर्तन की लड़ाई में अपना सब कुछ न्योछावर कर देते हैं
वक़्त केवल उन्हीं को याद रखता है जो विपरीत दिशाओं को प्रगति की ओर मोड़ देते हैं
समय केवल उन्हीं की यादों को हमेशा के लिए सहेज कर रखता है जो उज्ज्वल भविष्य का निर्माण करते हैं।


Leave a Reply

%d bloggers like this: