Peter Wohlleben | पेड़ गूंगे नहीं होते, पेड़ आपसे कुछ कहना चाहते हैं!

Who proved that plants have life? पेड़ गूंगे नहीं होते– “पेड़ आपसे कुछ कहना चाहते हैं!” – यह कपोल-कल्पना भर नहीं है! वास्तव में पेड़ों …

Read More

Ped-Paudhon mein jeevan hota hai- मांसभक्षियों का प्रिय कुतर्क

“Ped-Paudhon mein bhi to jeevan hota hai” पशुवध के बाद वधियों और मांसभक्षियों का सबसे प्रिय कुतर्क बहुधा यही होता है। अपने अपराध बोध पर …

Read More

Badhai | पिशाच-पर्व पर शुभकामनाओं का राक्षसी-उत्सव मनाते लोग

सभी अपनी जाति के लिए शोक मनाते हैं, पीर पराई समझने वाला वैष्णवजन तो यहां कोई नहीं है। मुस्लिम को फिलिस्तीन पर दु:ख होता है, …

Read More
%d bloggers like this: